पुलिस में कितने पद होते है उनके Badges और वेतन |  Indian Police rank, insignis and salary

आपको पता ही है कि पुलिस विभाग में अलग अलग तरह के एक बहुत से पद होते हैं सभी पदों पर अलग अलग कार्य करने होते हैं और उनकी अलग अलग ही पावर होती है तो आप में से बहुत से लोगो को इसके बारे में जानकारी नही होती है इसीलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको पुलिस विभाग के सभी रैंक उनके इनसिग्निया (बिल्ला) और वेतन के बारे में पूरी जानकारी देंगे अगर आप इसके बारे में पूरी इन्फोर्मेशन चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

police vibhag me kitne pad hote hai

पुलिस विभाग की रैंक, उनके इनसिग्निया (बिल्ला) और वेतन

पुलिस कॉन्स्टेबल

इनकी 12th पास पर भर्ती की जाती है इके कंधे पर मिट्टी खाली पट्टी को होती है इस पर कोई स्टार नहीं होता इनकी सैलरी प्रतिमाह 20,000 से 45,000 रूपये के लगभग होती है.

सीनियर कॉन्स्टेबल

जो पुलिस कॉन्स्टेबल के कुछ सालों के बाद प्रमोशन होने के बाद बनते हैं इनके कंधे पर एक खाली पट्टी होती है जिसपर कोई स्टार नहीं होता लेकिन साइड में तो शेवरोन लगी एक पट्टी होती है लेकिन महाराष्ट्र में एक अलग तरह का इनसिग्निया होता है इन्हें प्रतिमहा 32,000 से 50,000 रूपये वेतन मिलता है.

हेड कॉन्स्टेबल

इन्हें हम हवलदार भी कहते हैं ज्यादातर राज्यों में हेड कॉन्स्टेबल कॉन्स्टेबल से प्रमोशन होने के बाद बनते हैं लेकिन दिल्ली में इस पद के लिए भी डायरेक्ट भर्ती की जाती है इनके कंधे पर एक खाली पट्टी होती है जिस पर कोई स्टार नहीं होता लेकिन साइड में तीन शेवरोन लगी एक पट्टी होती हैं महाराष्ट्र में एक अलग तरह का इनसिग्निया (बिल्ला) होता है इन्हें प्रतिमहा 37,000 से 54000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

एएसआइ (असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर)

जिसे हिंदी में सहायक उपनिरीक्षक कहते हैं इन्हें पुलिस चौकी का या इन्वेस्टिगेशन सेंटर्स का इंचार्ज बनाया जा सकता है असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर हेड कॉन्स्टेबल के 5 से 7 साल के बाद प्रमोशन होने पर बनते हैं इनके कंधे पर एक स्टार लगा होता है और लाल नीले रंग की दो पट्टी होती है इन्हें प्रतिमाह 55,000 से 60,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

सब इन्स्पेक्टर

इन्हें दरोगा या उपनिरीक्षक कहते हैं जो कि पुलिस चौकी का इंचार्ज होता है और उसका सभी कार्यभार संभालना है तो दरोगा दो तरह से बनते हैं डायरेक्ट भर्ती से और दूसरा प्रमोशन के थ्रू तो ग्रेजुएशन बेस पर भी दरोगा की भर्ती की जाती है और दूसरा असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर से प्रमोशन होने के बाद भी दरोगा बनते हैं इनके कंधे पर दो स्टार्स लगे होते हैं और साथ ही लाल नीले रंग की पट्टी होती है इन्हें प्रतिमाह 45,000 से 70,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

एपीआई (असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर)

इन्हें हिंदी में सहायक पुलिस निरीक्षक कहते हैं और यह पद सिर्फ महाराष्ट्र पुलिस में ही होता है जहाँ पर सब इंस्पेक्टर से प्रमोशन होने के बाद असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर बनते हैं इनके कंधे पर तीन स्टार होते हैं और नीचे एक लाल रंग की पट्टी होती है इन्हें प्रतिमाह 58,000 से 72,000 रूपये की लगभग वेतन मिलता है.

पुलिस इन्स्पेक्टर

इन्हें हिंदी में पुलिस निरीक्षक कहते हैं जो कि पुलिस स्टेशन का इंचार्ज होता है इनकी डायरेक्ट भर्ती नहीं होती जबकि सब इंस्पेक्टर से प्रमोशन होने के बाद ही पुलिस इंस्पेक्टर बनते हैं जबकि महाराष्ट्र में असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर से प्रमोशन होने पर पुलिस इंस्पेक्टर बनते हैं इनके कंधे पर तीन स्टार लगे होते हैं और लाल नीले रंग की दो पट्टियाँ होती है इन्हें प्रतिमाह 60,000 से 78,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

डीएसपी (डिप्टी सुप्रीटेंडेंट ऑफ़ पुलिस)

इन्हें हिंदी में उप पुलिस अधीक्षक कहते हैं इनके कंधे पर तीन स्टार होते हैं और राज्य का नाम लिखा होता है मेट्रो सिटीज में इसी पद को एसीपी यानी असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस के नाम से भी जाना जाता है जिसे हिंदी में सहायक पुलिस उपायुक्त कहते हैं इन्हें प्रतिमाह 65,000 से 80,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

एएसपी (असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस)

जिसे हिंदी में ही सहायक पुलिस अधीक्षक कहते हैं दरअसल यह आइपीएस ऑफिसर के ट्रेनिंग पीरियड का समय होता है इसमें फ़र्स्ट इअर में इनके कंधे पर एक स्टार और आइपीएस लिखा होता है सेकंड ईयर में दो स्टार और आईपीएस लिखा होता है और थर्ड ईयर में तीन स्टार और आइपीएस लिखा होता है और फिर ट्रेनिंग पूरी होने के बाद ये बनते हैं एडिशनल एसपी यानी एडिशनल सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस जिसे हिंदी में अपर पुलिस अधीक्षक कहते हैं इनके कंधे पर एक अशोक स्तंभ का चिन्ह और उसके नीचे आईपीएस लिखा होता है जबकि मेट्रो सिटीज में किसी पोस्ट को एडिशनल डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस के नाम से जाना जाता है जिसे हिंदी में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त कहते हैं इन्हें बढ़ती महा 72,000 से 85,000 रूपये की लगभग वेतन मिलता है.

एसपी

इसका पूरा नाम सुपरिन्टेन्डेन्ट ऑफ़ पुलिस होता है जिसे हिंदी में पुलिस अधीक्षक कहते हैं जो की एडिशनल एसपी के प्रमोशन होने के बाद बनते हैं इनके कंधे पर एक अशोक स्तंभ का चिन्ह और एक स्टार होता है और उसके नीच आईपीएस लिखा होता है और मेट्रो सिटीज में इसी पोस्ट को डीसीपी यानी डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (जूनियर मैनेजमेंट ग्रेड) के नाम से जाना जाता है इन्हें प्रतिमाह 78,000 से 90,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

एसएसपी (सीनियर सुपरीटेंडेंट ऑफ़ पुलिस)

इन्हें हिंदी में वरीष्ठ पुलिस अधीक्षक कहते हैं इनके कंधे पर एक अशोक स्तंभ का चिन्ह और दो स्टार होते हैं और उसके नीचे आइपीएस लिखा होता है और मेट्रो सिटीज में इसी पद को एसडीसीबी यानि डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (सेलेक्शन ग्रेड) के नाम से जाना जाता है इन्हें प्रतिमाह 90,000 से 1,18,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

डीआइजीपी

जिसका पूरा नाम है डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस जिसे हिंदी में पुलिस उप महानिरीक्षक कहते हैं जिनके कंधे पर एक अशोक स्तंभ का चिन्ह और तीन स्टार होते हैं और उसके नीचे आईपीएस लिखा होता है और इन्हें प्रतिमाह 95000 से 1,31,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

आईजीपी (इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस)

इन्हें हिंदी में महानिरीक्षक कहते हैं इनके कंधे पर एक स्टार और छड़ी कृपाण से क्रोस बना होता है और इसके नीचे आईपीएस लिखा होता है इन्हें प्रतिमाह 1,10,000 से 1,44,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

एडीजीपी

जिसका पूरा नाम एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस होता है तो इसे हिंदी में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक कहते हैं इनके कंधे पर अशोक स्तम्भ का चिन्ह और छड़ी कृपाण से क्रोस बना होता है और नीचे आईपीएस लिखा होता है इन्हें प्रतिमाह 1,30,000 से 1,50,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

डीजीपी

इसका पूरा नाम डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस होता है इन्हें हिंदी में पुलिस महानिदेशक कहते हैं इनके कंधे पर अशोक स्तम्भ का चिन्ह और छठी कृपाण से क्रॉस बना होता है और नीचे आईपीएस लिखा होता है इन्हें प्रतिमाह 1,45,000 से 1,80,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

डीआईबी (डायरेक्टर ऑफ इंटेलीजेंस ब्यूरो)

जिसे हिंदी में खुफिया ब्यूरो निर्देशक कहते हैं इनके कंधे पर भी अशोक स्तंभ का जिन्न एक स्टार और छड़ी कृपाण से क्रोस बना होता है और उसके नीचे आईपीएस लिखा होता है जिन्हें 1,50,000 से 2,00,000 रूपये के लगभग वेतन मिलता है.

तो ये सभी पुलिस विभाग की रैंक होती है.

आज आपने क्या सीखा?

तो आज इस आर्टिकल में हमने आपको पुलिस विभाग की रैंक और वेतन से संबंधित जानकारी दी है उम्मीद करते हैं कि ये जानकारी आपको पसंद आई होगी इसके अलावा अगर आपका कोई और सवाल है तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *