Vigilant ban on wheat cutting machine: सावधान गेहूं काटने वाले मशीन पर लगी रोक, उपयोग करने पर होगी कार्रवाई

Vigilant ban on wheat cutting machine: नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि गेहूं काटने वाले इस मशीन पर रोक लगा दी गई है तो ऐसे में अगर आप इस मशीन का इस्तेमाल करते हैं तो आपको कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा आपको बता दें कि गोरखपुर जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने गेहूं काटने के लिए उपयोग होने वाली स्ट्रा रीपर युक्त मशीन के उपयोग पर 15 अप्रैल तक रोक लगा दी है तो ऐसे में अगर कोई भी इस मशीन का इस्तेमाल करता है तो उसके खिलाफ़ सख्त कार्रवाई होगी.

Vigilant ban on wheat cutting machine: इस समय गेहूं की फसल तैयार हो गई है ऐसे में जिन लोगों के पास ज्यादा खेती है तो वे अपने गेहूं की कटाई के लिए मशीन का इस्तेमाल करते हैं लेकिन अब इसी बीच गोरखपुर के जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने भूसा बनाने वाली मशीन से गेहूं की कटाई पर रोक लगा दी है उन्होंने यह फैसला लिया है कि स्ट्रा रीपर युक्त मशीन इससे गेहूं की कटाई के दौरान निकलने वाली चिंगारी से आग लगने की घटनाएं बढ़ रही है इसलिए इस समय मशीन के उपयोग पर रोक लगा दी है. इसे भी पढ़ें – सीएम योगी ने बताया तरीका यूपी में रेशम की खेती से किसानों की इनकम होगी डबल

15 अप्रैल तक स्ट्रा रीपर युक्त मशीन के उपयोग पर रोक

आपको बता दें कि 15 अप्रैल तक गोरखपुर के जिलाधिकारी कृष्ण करुणेश ने स्ट्रा रीपर युक्त मशीन के उपयोग पर रोक लगा दिया है ऐसे में अगर कोई भी व्यक्ति इस मशीन का इस्तेमाल करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाएगी क्योंकि जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश की तरफ से इस आदेश को जारी कर दिया गया है.

मशीन से चिंगारी निकलने की वजह से लगती है रोक

आपको बता दें कि गर्मी के मौसम में आग लगने के चांसेस ज्यादा रहते हैं और ऐसे में गेहूं काटने वाली मशीन से चिंगारी निकलती रहती है जिसका कारण से फसल में आग लगने की संभावना रहती है जिससे किसानों को काफी ज्यादा नुकसान हो सकता है इसलिए इस मशीन पर रोक लगा दिया गया है. इसे भी पढ़ें – सरकार की नई स्कीम 10 रुपये की फिक्स्ड डिपॉजिट पर खरीदे पेड़, 6 गुना ज्यादा अनुदान के साथ पाएं बम्फर मुनाफा

24 घंटे के अंदर किसानों को मिलेगा मुआवजा

गर्मी के मौसम में गेहूं की फसल तैयार हो जाती है और ऐसे में कई बार गेहूं के खेतों में आग लग जाती है जिससे किसानों की फसल जलकर राख हो जाती है तो अब जिला प्रशासन ने आग लगने से किसानों को होने वाले नुकसान पर उन्हें 24 घंटे के अंदर ₹25,000 का मुआवजा देने की भी घोषणा की है जिन किसानों की फसल आग की दुर्घटना की वजह से जल जाती है उन्हें 24 घंटे के अंदर मुआवजा दिया जाएगा इसके अलावा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत भी बीमा का लाभ किसानों दिया जाएगा. इसे भी पढ़ें – Pashu credit card farmers loan: दुधारू पशु खरीदने पर किसानों को सरकार दे रही 1.60 लाख तक का लोन, ऐसे करें आवेदन

जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने क्या कहा

जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने कहा है कि गेहूं की फसल में आग लगने से किसानों को काफी ज्यादा नुकसान होता है तो ऐसे में अब ये बात सामने आई है कि स्ट्रा रीपर युक्त मशीन से निकलने वाली चिंगारी से भी आग लग जाती है इसीलिए अब जिलाधिकारी ने इस मशीन के प्रयोग को 15 अप्रैल तक बंद कर दिया है अगर कोई व्यक्ति इस मशीन का इस्तेमाल करके पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसे भी पढ़ें – Financial assistance widowed women: विधवा महिलाओं को हर महीने ₹300 की आर्थिक सहायता, जानें कैसे करें अप्लाई

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *